Sticky post

दर्द देखा आज

आज देखा है दर्द करीब से, हाथ मदद को उठे, कुछ कर न सके. मजबूर आँखें देखी अपनों की, तकलीफ में मुसकुरा कर आई हूँ. ऐ खुदा, इतना भी कठोर न हो, यही दुआ दिल में माँग आई हूँ. आज दर्द को करीब से देख आई हूँ आज दर्द को करीब से देख आई हूँ…. Advertisements Continue reading दर्द देखा आज

गर होता सब सच.. Random thoughts

गर होता सब सच जो कहती मैं, जाने कितनी बातें ही लिखी जाती! जाए कलम जिस ओर, ख्वाब चलते मेरे…. दिल में छिपी बातें कागज़ पर छप कर, एक शोर मचातीं. न हो शोर कहीं, इस सोच में शांत हूं … Continue reading गर होता सब सच.. Random thoughts